English
0360 - 2006296(कार्यालय)
0360 - 2006297(प्रशिक्षण)
0360 - 2006298(जा.सं.केंद्र)
 

वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) सेवाएं


एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) एक प्राइवेट नेटवर्क (इंटरनेट संबोधित आर्किटेक्चर में, एक निजी नेटवर्क आरएफसी १९१८ और आरएफसी ४१९३ द्वारा निर्धारित मानकों का पालन, निजी आईपी पता स्थान का उपयोग करने वाला नेटवर्क है.) और इंटरनेट की तरह सार्वजनिक नेटवर्क भर में नेटवर्क में निहित संसाधनों में फैला हुआ है। यह निजी नेटवर्क के सभी कार्यक्षमता, सुरक्षा और प्रबंधन की नीतियों के साथ एक निजी नेटवर्क के रूप में अगर साझा या सार्वजनिक नेटवर्क पर डेटा भेजने और प्राप्त करने के लिए एक होस्ट के कंप्यूटर सक्षम बनाता है। इंटरनेट के पार वीपीएन कनेक्शन तकनीकी साइटों के बीच एक वाइड एरिया नेटवर्क (वैन) लिंक है लेकिन लिंक इसलिए एक निजी नेटवर्क का नाम "वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क" के रूप में उपयोगकर्ता के लिए प्रकट होता है।


एनआईसी वीपीएन कनेक्शन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरू की है। ऑनलाइन पंजीकरण के लिए http://vpn.nic.in लिंक है और यह निकनेट पर उपलब्ध है। इस साइट में वीपीएन सेवाओं से संबंधित सभी मैनुअल, प्रक्रियाओं और फार्म उपलब्ध हैं। आप एक वीपीएन खाता कि इच्छा रखते है तो अपने एनआईसी राज्य वेब समन्वयक से संपर्क करें। वीपीएन का पंजीकरण http://vpn.nic.in पर किया जाना चाहिए जिसके बाद एक वीपीएन आवेदन (पीडीएफ फाइल) उत्पन्न होता है जो सब्सक्राइबर(वेब साइट को अद्यतन करने के लिए जो व्यक्ति है) द्वारा हस्ताक्षर किए जाना है, अधिकारी की सिफारिश जो कार्यालय / विभाग के प्रमुख है और हार्ड कॉपी राज्य वेब समन्वयक को भेजा जाना है, जो वीपीएन समर्थन (एनआईसी दिल्ली) को भेजा जाएगा। यदि आप ऑनलाइन पंजीकरण करते हुए किसी में भी अनिश्चित हैं तो एनआईसी राज्य वेब समन्वयक से संपर्क करें।


उपयोगकर्ता जिनके पास एन.आई.सी.सी.ए द्वारा जारी किए गए डिजिटल प्रमाण पत्र हैं, वीपीएन के लिए भी उपयोग कर सकते हैं, लेकिन वे एनआईसी समन्वयक की मदद से वीपीएन कनेक्शन के लिए ऑनलाइन रजिस्टर करने के लिए है। पंजीकरण करने के दौरान उनको यह सुनिश्चित करना है कि उनको एन.आई.सी.सी.ए द्वारा जारी किए गए डिजिटल प्रमाण पत्र के अनुसार आम नाम और सीरियल नंबर प्रदान करना है।


नई सिस्टम में, वीपीएन खाता के लिए आम नाम और सीरियल नंबर डिजिटल प्रमाणपत्र का होगा। वीपीएन खाते का पासवर्ड और डिजिटल सर्टिफिकेट उपयोगकर्ता के लिए मेल पर भेज दिया जाएगा और रहस्य / निजी कुंजी आवेदक / ग्राहक को पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से भेज दिया जाएगा।


अगस्त २०१२ से ऑनलाइन वीपीएन आवेदन ही स्वीकार किया जा रहा है। और सभी उपयोगकर्ता जिसके डिजिटल प्रमाण पत्र गतावधिक हो गए है या गतावधिक होने जा रहे है, उनसे नए डिजिटल प्रमाणपत्र और वीपीएन खाते के लिए ऑनलाइन रजिस्टर करने के लिए अनुरोध कर रहे हैं।


वीपीएन कनेक्शन के लिए नई लिंक https://sconnect.nic.in है और प्रारंभिक प्रमाणीकरण के बाद, वीपीएन क्लाइंट सॉफ्टवेयर स्वचालित सिस्टम में डाउनलोड किया जाएगा।


जिन वेबसाइट के मालिकों के पास वीपीएन और एफ़टीपी खाते हैं उनको रिमोट अपडेशन / रखरखाव करने के लिए पूर्ण कदम अनुसार प्रक्रिया नीचे दी गई है।



१. एक वीपीएन कनेक्शन / खाता प्राप्त करने के लिए: वीपीएन के आवेदन के लिए, आपको यहां उपलब्ध वीपीएन फार्म भरना जरूरी है।
२. अपने संबंधित एनआईसी वेब समन्वयक को भरे वीपीएन फार्म जमा करें।
३. वेब समन्वयक ही, एनआईसी वीपीएन समूह के समक्ष पेश करेगा।
४. आपको वीपीएन समूह से वीपीएन खाते का विवरण प्राप्त होगा और वीपीएन कनेक्टिविटी के लिए आवश्यक सॉफ्टवेयर सेटअप
    और स्थापित करने के लिए आवश्यक दिशानिर्देश / अनुदेश भी प्राप्त होंगे।
५. सफल स्थापना के बाद, संबंधित वेब समन्वयक से एफ़टीपी विवरण प्राप्त करें।

किसी भी समस्या के मामले में आप सम्बन्धित एनआईसी राज्य वेब समन्वयक से संपर्क कर सकते हैं।
यूआरएल: http://inoc.nic.in/html/vpnservices.html , https://vpn.nic.in , https:// vpnca.nic.in /


राज्य वेब संयोजक:

अधिकारी का नाम

पदनाम

मेल आईडी
श्री संजीव कुमार दास
वैज्ञानिक अधिकारी - बी.
sanjiv[dot]das[at]nic[dot]in